हिन्दी दिवस पर कविता [Hindi Poem About Hindi Divas]

by हिन्दी ज्ञान सागर
1 comment 443 views
हिन्दी दिवस पर कविता

हिन्दी दिवस पर कविता – प्रस्तुत् कविता हिन्दी दिवस के उपलक्ष्य में लिखी गई है, जैसा कि, विदित है हिन्दी दिवस प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को मनाया जाता है, क्योंकि 14 सितंबर 1949 को हिन्दी भाषा को राजभाषा का दर्जा प्राप्त हुआ था। हम प्रति वर्ष हिन्दी दिवस को हिन्दी भाषा के सम्मान में इसकी समृद्धि व महत्त्व को बढ़ाने हेतु मनाते हैं । विस्तृत जानकारी हेतु यह लेख पढ़ें – हिन्दी दिवस कब और क्यों मनाते हैं?

हिन्दी दिवस के अवसर पर यदि आपको माधव शर्मा जी द्वारा रचित यह कविता पढ़नी चाहिए –

हिन्दी दिवस विशेष पर कविता प्रस्तुत् है –

हिन्दी दिवस पर कविता

शीर्षक – हिन्दी हैं हम

हम अभिलाषा ‘जयशंकर’ की,
हम परिभाषा हैं ‘दिनकर’ की।
हम ‘सूर’, ‘निराला’, ‘केशव’ हैं,
हम ‘मुक्तिबोध’ के सेवक हैं।।
हम ‘सेनापति’ के ‘भूषण’ हैं,
हम ‘मतिराम’, ‘रत्नाकर’ हैं।
हम प्रेमी ‘कुतुबन’,’मंझन’ हैं,
हम ‘आलम’,’नूर मुहम्मद’ हैं।।
हम ‘मीरा’ के गिरिधर गोपाल,
हम ‘घनानंद’ के हैं सुजान।
हम काशी के ‘तुलसी’,’कबीर’,
हम ‘पद्माकर’ के हैं अबीर।।
हम ‘नानक’, ‘दादू’ की वाणी,
हम ब्रज महिमा हैं ‘रसखानी’।
हम ‘अष्टछाप’ के बिहारीलाल,
हम ‘नाभादास’ के भक्तमाल।।
हम ‘भारतेंदु’ से शीतल हैं,
हम ‘विद्यापति’ से निर्मल हैं।
हम अखरावट ‘जायस वाले’,
हम ‘साहिब तुलसी’ हाथरस वाले।।”

……इति……


हिन्दी दिवस पर कविता - माधव शर्मा
माधव शर्मा, शोधार्थी (हिंदी) 
सुझाव हेतु संपर्क – ma*****************@gm***.com

Related Posts

1 comment

Cryptopack दिसम्बर 12, 2023 - 11:49 पूर्वाह्न

aise hi likhte rahna

Reply

Leave a Comment

Don`t copy text!